Sunday, 16 March 2014

होली के रंग

लाल,हरा,नीला और पीला

रंग लगाए कुछ ऐसा
मन का मैल,नफ़रत
आपसी भेद- भाव
सब मिटे
रंग चढ़े इस होली में कुछ ऐसा

चेहरों पर लिखी जात-पात
ऊँच-नीच,आम और खास के
रंगों में बंधी दुनिया
होली के पर्व में लगाए सब को रंग एक जैसा

होली में रंगे मन सुनहरे फूल
कैसर के रंग जैसा
रंग चढ़े इस होली में कुछ ऐसा

पिया....

बंद दरवाज़ा देखकर लौटी है दुआ आँख खुली तो जाना ख्याव और सच है क्या धीमे-धीमे दहक रहे है आँखों में गुजरे प्यार वाले पल...