Saturday, 31 December 2016

नया साल मुबरक-2017

नए साल के
नए  पन्ने पर
लिखे संभल-संभल
बने हर पल जिंदगी का
सुखद,संपन्न और सफल
नया साल मुबरक-2017


आप सभी को बहुत-बहुत धन्यवाद,आपके प्यार और प्रोत्साहन के लिए आभार..

रिंकी

प्रेम में मिलावट

only you प्रेम शुद्ध कांच सा निर्मल था जब पेहली बार बचपन और यौवन के बीच हुआ धीरे-धीरे,जैसे-जैसे  प्रेम को ...